Bewafa Shayari in Hindi for boyfriend बेवफ़ा शायरी

bewafa shayari in hindi for love

मिल जायेगा हमें भी कोई टूट कर चाहने वाला !
अब शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता !!

अल्फाज़ तो बहुत है मोहब्बत को जताने के लिए !
जो मेरी खामुशी नहीं समझ सका वो मेरी मोहब्बत क्या समझे गा !!

तू भी बेवफा निकला औरों की तरह, सोचा था !
की हम तुझसे ज़माने की बेवफाई का गिला करेंगे !!

जुल्मो सितम सहते रहे एक बेवफा की आस मे !
डुबो दिया मुझे दरिया ने दो घूट की प्यास में !!

मैंने उस से वफ़ा की उम्मीद लगा रखी थी दोस्तों !
जिसके चर्चे आम थे बाजार में बेवफाई के दोस्तों !!

Bewafa poetry बेवफ़ा शायरी 2020

आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए !
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए !
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो !
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए !!

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है !
खामोशियो की आदत हो गयी है !
न सीकवा रहा न शिकायत किसी से अगर है तो !
एक मोहब्बत जो इन तन्हाइयों से हो गई है !!

Bewafa shayari in hindi for girlfriend

Do Dilo Ki Dhadkano Ne Ek Saaz Hota Hai,
Sabko Apni Apni Mohabbat Par Naaz Hota Hai,
Usme Se Har Ek Bewafa Nahi Hota,
Uski Bewafai Ke Peechhe Bhi Koi Raaz Hota Hai.

दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है,
सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है,
उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता,
उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है।

Bewafaon Ki Iss Duniya Me Sambhal Kar Chalna,
Yehan Mohabbat Se Bhi Barbaad Kar Dete Hain Log.

बेवफाओं की इस दुनिया में संभल कर चलना,
यहाँ मोहब्बत से भी बरबाद कर देतें हैं लोग।

Jante The Nahi Ho Sakte Kabhi Tum Humare,
Phir Bhi Khuda Se Tumhen Magne Ki Adat Ho Gayi,
Paimane Wafa Kya Hain Hume Kya Maloom,
Ki Bewafa Se Dil Lagane Ki Adat Ho Gayi.

जानते थे कि नहीं हो सकते कभी तुम हमारे,
फिर भी खुदा से तुम्हें माँगने की आदत हो गयी,
पैमाने वफ़ा क्या है, हमें क्या मालूम,
कि बेवफाओं से दिल लगाने की आदत हो गयी।

Nazar Nazar Se Milegi To Sar Jhuka Lega,
Wo Bewafa Hai Mera Imtehaan Kya Lega,
Use Chirag Jalaane Ko Mat Keh Dena.
Wo Na Samajh Hai Kahin Ungliyan Jala Lega.

नज़र नज़र से मिलेगी तो सर झुका लेंगे,
वो बेवफा है मेरा इम्तहान क्या लेगा,
उसे चिराग जलाने को मत कह देना,
वो ना समझ है कहीं उँगलियाँ जला लेगा।

Bewafa shayari hindi mai

Uske Chehre Par Is Kadar Noor Tha,
Ki Uski Yaad Me Rona Bhi Manjoor Tha,
Bewafa Bhi Nahi Kah Sakte Usko ‘Faraz’,
Pyar To Humne Kiya Hai Wo To Bekasoor Tha.
Bewafa Kahne wale Chale Gye

उसके चेहरे पर इस कदर नूर था,
कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था,
बेवफ़ा भी नहीं कह सकते उसको ‘फराज़’,
प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

Na Puchh Mere Sabra Ki Inteha Kahan Tak Hai,
Tu Sitam Kar Le Teri Hasrat Jahan Tak Hai,
Wafa Ki Umeed Jinhe Hogi Unhe Hogi,
Hame To Dekhna Hai Tu Bewafa Kahan Tak Hai.

न पूछ मेरे सब्र की इन्तहां कहाँ तक है,
तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है,
वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमे तो देखना है तू बेवफा कहाँ तक है।

bewafa shayari status 2020

Insaan Ke Kandho Par Insaan Ja Raha Tha,
Kafan Me Lipata Hua Armaan Ja Raha Tha,
Jise Bhi Mili Bewafai Mohabbat Me,
Wafa Ki Talash Me Shamshaan Ja Raha Tha.

इंसान के कंधो पर इंसान जा रहा था,
कफ़न में लिपटा हुआ अरमान जा रहा था,
जिसे भी मिली बेवफाई मोहब्बत में,
वफ़ा कि तलास में शमसान जा रहा था।

Tujhe Hai Mashq-e-Sitam Ka Malaal Waise Hi,
Humari Jaan Hain Jaan Par Wabaal Waise Hi.
Chala Tha Zikr Zamaane Ki Bewafai Ka,
To Aa Gaya Hai Tumhara Khayal Waise Hi.
bewafa shayari status 2020

तुझे है मशक़-ए-सितम का मलाल वैसे ही,
हमारी जान है जान पर बबाल वैसे ही,
चला था जिक्र जमाने की बेवफ़ाई का,
तो आ गया है तुम्हारा ख्याल वैसे ही।

Suno Ek Baar Mohabbat Karni Hai Tumse,
Lekin Iss Baar Bewafaai Hum Karenge.

सुनो एक बार और मोहब्बत करनी है तुमसे,
लेकिन इस बार बेवफाई हम करेंगे।

Kaam Aa Saki Na Apni Wafayein To Kya Karein,
Uss Bewafa Ko Bhool Na Jayein To Kya Karein.

काम आ सकीं ना अपनी वफ़ाएं तो क्या करें,
उस बेवफा को भूल ना जाएं तो क्या करें।

Dard bhari bewafa shayari

Kaisi Ajeeb Tujhse Yeh Judai Thi,
Ki Tujhe Alvida Bhi Na Keh Saka,
Teri Saadgi Mein Itna Fareb Tha,
Ki Tujhe Bewafa Bhi Na Keh Saka.

कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी,
कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,
तेरी सादगी में इतना फरेब था,
कि तुझे बेवफा भी ना कह सका।

Bewafai Ka Mausam Bhi
Ab Yahan Aane Laga Hai,
Wo Fir Se Kisi Aur Ko
Dekhkar Muskurane Laga Hai.
bewafa shayari Kya Hoti Hai

बेवफायी का मौसम भी
अब यहाँ आने लगा है,
वो फिर से किसी और को
देख कर मुस्कुराने लगा है।

Raat Ki Gehrayi Aankhon Mein Utar Aayi,
Kuchh Khwaab The Aur Kuchh Meri Tanhai,
Yeh Jo Palko Se Bah Rahe Hain Halke Halke,
Kuchh Toh Majboori Thi Kuchh Teri Bewafai.

रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।

Hindi shayari bewafa sanam

Aag Dil Me Lagi Jab Wo Khafa Huye,
Mehsoos Hua Tab, Jab Wo Juda Huye,
Kar Ke Wafa Kuchh De Na Sake Wo,
Bahut Kuch De Gaye Jab Wo Bewafa Huye.

आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।

Najar Najar Se Milegi Toh Sar Jhuka Lega,
Woh Bewafa Hai Mera Imtihaan Kya Lega,
Use Chiraag Jalaane Ko Mat Kah Dena.
Woh Nasamjh Hai Kahin Ungliyan Jala Lega.
Aksar Apne bewafa sanam ko lute hai

नजर नजर से मिलेगी तो सर झुका लेगा,
वह बेवफा है मेरा इम्तिहान क्या लेगा,
उसे चिराग जलाने को मत कह देना,
वह नासमझ है कहीं उंगलियां जला लेगा।

Kabhi Gham Toh Kabhi Tanhai Maar Gayi,
Kabhi Yaad Aakar Unki Judai Maar Gayi,
Bahut Toot Kar Chaha Jisko Humne,
Aakhir Mein Uski Bewafai Maar Gayi.

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।

Jab Tak Na Lage Ek Bewafai Ki Thokar,
Har Kisi Ko Apne Mahboob Pe Naaz Hota Hai.

जब तक न लगे एक बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है।

Bewafaon Ki Iss Duniya mein SanbhalKar Chalna,
Yehan Mohabbat Se Bhi Barbaad Kar Dete Hain Log.

बेवफाओं की इस दुनियां में संभलकर चलना,
यहाँ मुहब्बत से भी बर्बाद कर देते हैं लोग।

Bewafa shayri in hindi

हक़ीकत जान लो जुड़ा होने से पहले,
मेरी सुन लो अपनी सुनने से पहले,
ये सोच लेना भूलने से पहले,
बहुत रोई हैं ये आँखें मुस्कुराने से पहले!!

लगे हे इल्ज़ाम दिल पे जो मुझ को रुलाते है,
किसी की बेरूख़ी और किसी और को सताते हे,
दिल तोड़ के मेरा वो बड़ी आसानी से कह गये अलविदा,
लेकिन हालात मुझे बेवफा ठहराते है!!
दिल से रोए मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे,
यूँही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे,
वो हमे एक लम्हा ना दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिए अपनी ज़िंदगी गवां बैठे!!
सब कुछ मिला बस खुदाई के सिवा,
ज़िंदगी बहुत पसंद आई रुसवाई के सिवा,
मेरी चाहत का एहसास भी न होगा,
उसकी हर अदा पसंद आई बेवफ़ाई के सिवा!!

हम भी कभी मुस्कुराया करते थे,
उजाले मे भी शोर मचाया करते थे,
उसी दिए ने जला दिया मेरे हाथो को,
जिस दिए को हम हवा से बचाया करते थे!!

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी
Bewafa shayri in hindi

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी !
वरना हमको कहां तुम से शिकायत होगी !
ये तो बेवफ़ा लोगों की दुनिया है !
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी !!

मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए सायद
आज वो भी बेवफा हो गाए सायद
जब नींद खुली तो पलकों में पानी था
मेरे ख्वाब मुझपे रो गाए सायद

लफ्ज़ वही हैं, माईने बदल गये हैं !
किरदार वही, अफ़साने बदल गये हैं !
उलझी ज़िन्दगी को सुलझाते सुलझाते !
ज़िन्दगी जीने के बहाने बदल गये हैं !!

इल्जाम न दे मुझको तूने ही सिखाई बेवफाई है,
देकर के धोखा मुझे मुझको दी रुसवाई है,
मोहब्बत में दिया जो तूने वही अब तू पाएगी,
पछताना छोड़ दे तू भी औरों से धोखा खायेगी।

चाहा है तुम्हें अपने अरमान से भी ज्यादा,
लगती हो हसीन तुम मुस्कान से भी ज्यादा,
मेरी हर धड़कन हर साँस है तुम्हारे लिए,
क्या माँगोगे जान मेरी जान से भी ज्यादा।

वो मोहब्बत भी तेरी थी, वो शरारत भी तेरी थी….!!
अगर कुछ बेवफाई थी, तो वो बेवफाई भी तेरी थी….!!
हम छोड़ गए तेरा शहर, तो वो हिदायत भी तेरी थी…!!
अगर करते तो किस्से करते तुम्हारी शिकायत
सनम वो शहर भी तेरा था वो अदालत भी तेरी थी..!!

पहले जिंदगी छीन ली मुझसे… अब मेरी मौत का भी वो फायदा उठाती है!
मेरी कब्र पे फूल चढाने के बहाने… वो किसी और से मिलने आती है…

Pahile Zindagi Cheen Li Mujhse Ab Meri Maut Ka Bhi Wo Fayda Uthati Hai
Meri Kabra Pe Fool Chadhane Ke Bahane Wo Kisi Aur Se Milne Aati…

बिखरे हुए दिल ने भी उसके लिए फरियाद मांगी
मेरी सांसो ने भी हर पल उसकी खुशी मांगी
जाने क्या मोहब्बत थी उस बेवफा में…
कि मैंने आखिरी फरियाद में भी उसकी वफा मंगी!!

हर धड़कन में एक राज होता है
बात को बताने का भी एक अंदाज होता है
जब तक ना लगे ठोकर बेवाफाई की
तब तक हर किसी को अपने प्यार पर नाज होता है…!!

Har Dhadkan Main Ek Raz Hota Hai
Baat Ko Batane Ka Bhi Ek Andaz Hota Hai
Jab Tak Na Lage Thokar Bewafai ki
Tab tak ke har kisi ko apne pyar par naaz hota hai
Bewafa shayri in hindi

हर हीरा चमकदार नहीं होता,
हर समंदर गहरा नहीं होता…
दोस्तो जरा संभल कर प्यार करना,
हर खूबसूरत चेहरा वफादार नहीं होता…

ये नजर चुराने की आदत
आज भी नही बदली उनकी,
कभी मेरे लिए जमाने से और
अब जमाने के लिए हमसे

मुझे उसके आँचल का आशियाना न मिला,
उसकी ज़ुल्फ़ों की छाँव का ठिकाना न मिला,
कह दिया उसने मुझको ही बेवफा…
मुझे छोड़ने के लिए कोई बहाना न मिला।

एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो,
मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं,
अब कह रहे हैं मेरे जनाज़े पे बैठ कर,
यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।

ऐ बेवफा तेरी बेवफ़ाई में दिल बेकरार ना करूँ,
अगर तू कह दे तो तेरा इंतेज़ार ही ना करूँ,
तू बेवफा है तो कुछ इस कदर बेवफ़ाई कर,
कि तेरे बाद मैं किसी से प्यार ही ना करूँ।

बेवफा से दिल लगा लिया नादान थे हम,
गलती हमसे हुई क्योंकि इंसान थे हम,
आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती है,
कुछ समय पहले उनकी जान थे हम।

जो कहते थे हमसे हैं तेरे सनम,
वो दगा दे गए देखते देखते।
देते मोहब्बत का इनाम क्या,
वो सजा दे गए देखते देखते।
सोचता हूँ कि वो कितने मासूम थे,
जो बेवफा हो गए देखते देखते।

कभी जो हम से प्यार बेशुमार करते थे,
कभी जो हम पर जान निसार करते थे,
भरी महफ़िल में हमको बेवफा कहते हैं,
जो खुद से ज़्यादा हमपर ऐतबार करते थे।

Gahrayi Pyar Mein Ho To Bewafai Nahin Hoti,
Sachche Pyar Mein Kahin Tanhayi Nahin Hoti,
Magar Pyar Zara Sambhal Kar Karna Mere Dost,
Pyar Ke Zakhm Ki Koyi Dava Nahin Hoti.

गहराई प्यार में हो तो बेवफाई नहीं होती,
सच्चे प्यार में कहीं तन्हाई नहीं होती,
मगर प्यार ज़रा संभल कर करना मेरे दोस्त,
प्यार के ज़ख्म की कोई दवा नहीं होती।

Aaj Hum Unhe Bewafa Batakar Aaye Hain,
Unke Khaton Ko Paani Mein Bahakar Aaye Hain,
Koi Nikal Kar Paadh Na Le Unhe,
Isliye Paani Mein Bhi Aag Lagaker Aaye Hain.

आज हम उनको बेवफा बताकर आए हैं,
उनके खतो को पानी में बहाकर आए हैं,
कोई निकाल न ले उन्हें पानी से..
इस लिए पानी में भी आग लगा कर आए हैं।
sad shayari

Bewafa sad shayari

Mat Rakh Hamse Wafa Ki Ummeed Ai Sanam,
Hamne Har Dam Bewafai Payi Hai,
Mat Dhoondh Hamare Jism Pe Jakhm Ke Nishan,
Hamne Har Chot Dil Pe Khaayi Hai.

मत रख हमसे वफा की उम्मीद ऐ सनम,
हमने हर दम बेवफाई पायी है,
मत ढूंढ हमारे जिस्म पे जख्म के निशान,
हमने हर चोट दिल पे खायी है।

Kya Jano Tum Bewafai Ki Had Dosto,
Wo Hamse Ishq Seekhti Rahi Kisi Or Ke Liye.

क्या जानो तुम बेवफाई की हद दोस्तों,
वो हमसे इश्क सीखती रही किसी ओर के लिए।

Hamaari Tabiyat Bhi Na Jaan Sake Hame Behal Dekhkar,
Aur Ham Kuchh Na Bata Sake Unhen Khushahal Dekhkar.

हमारी तबियत भी न जान सके हमे बेहाल देखकर,
और हम कुछ न बता सके उन्हें खुशहाल देखकर।

Yun To Hai Sabkuch Mere Pas Bas Dva-E-Dil Nahi,
Door Vo Mujhse Hai Par Main Us Se Naraaj Nahin,
Maloom Hai Ab Bhi Mohabbat Karta Hai Vo Mujhse,
Vo Thoda Sa Jiddi Hai Lekin Bevafa Nahin.

यूँ है सबकुछ मेरे पास बस दवा-ए-दिल नही,
दूर वो मुझसे है पर मैं उस से नाराज नहीं,
मालूम है अब भी मोहब्बत करता है वो मुझसे,
वो थोड़ा सा जिद्दी है लेकिन बेवफा नहीं।

Rushwa Kyu Karte Ho Tum Ishq Ko, Ai Duniya Walo,
Mehboob Tumhara Bewafa Hai, To Ishq Ka Kya Gunah.

रुशवा क्यों करते हो तुम इश्क़ को, ए दुनिया वालो,
मेहबूब तुम्हारा बेवफा है, तो इश्क़ का क्या गनाह।

bewafa shayari 2019

Meri Wafa Ke Kabil Nahin Ho Tum,
Pyar Mile Aise Insaan Nahin Ho Tum,
Dil Kyon Tum Par Aitabaar Kare,
Pyar Mein Dhoka De Aise Bewafa Ho.

मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,
प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,
दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,
प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम।

Itni Mushkil Bhi Na Thi
Raah Meri Mohabbat Ki,
Kuchh Zamana Khilaaf Hua
Kuchh Woh Bewafa Ho Gaye.

इतनी मुश्किल भी ना थी
राह मेरी मोहब्बत की,
कुछ ज़माना खिलाफ हुआ
कुछ वो बेवफा हो गए।
bewafa shayari 2020

Rehne De Yeh Kitaab Tere Kaam Ki Nahi,
Iss Mein Likhe Hue Hain Wafaaon Ke Tazkare.

रहने दे ये किताब तेरे काम की नहीं,
इस में लिखे हुए हैं वफाओं के तज़करे।

Agle Barson Ki Tarah Honge Qarine Tere
Kise Malum Nahi Barah Maheene Tere.

अगले बरसों कि तरह होंगे करीने तेरे,
किसे मालुम नहीं बारह महीने तेरे।

Tum Agar Yaad Rakhoge Toh Inayat Hogi,
Varna Humko Kahan Tum Se Shikayat Hogi,
Yeh Toh Wahi Bewafa Logon Ki Dunia Hai,
Tum Agar Bhool Bhi Jaao Toh Riwayat Hogi.

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,
वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी,
ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है,
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी।

Woh Suna Rahe The Apni Wafao Ke Kisse,
Hum Par Najar Padi Toh Khamosh Ho Gaye.

वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से,
हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए।

Chahte Hain Woh Har Roj Naya Chahne Wala,
Aye Khuda Mujhe Roj Ik Nayi Soorat De De.

चाहते हैं वो हर रोज़ नया चाहने वाला.
ऐ खुदा मुझे रोज़ इक नई सूरत दे दे।

Uski Bewafai Pe Bhi Fida Hoti Hai Jaan Apni,
Agar Uss Mein Wafa Hoti To Kya Hota Khuda Jane.

उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,
अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने।

मेरे दिल को अब किसी से गिला नहीं ,
मन से जिसे चाहा वो मुझे मिला नहीं ,
बद नसीबी कहूँ या वक्त की बेवफाई ,
अँधेरे में एक दीपक मिला पर वो जला नही …!

काश हम भी होते गालिब की तरह शायरी के बादशाह
हम भी तुझे रूलाते तेरी बेवफाई के शेर सुना सुना कर

आंखों में जिनके बस गई दुनिया भर की रौनकें
वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था
bewafa shayari 2019

लोग डूब कर सुनते है मेरी बेतुकी बातों को आजकल,
तू ही बता तेरी बेवफ़ाई नें मुझे ये क्या बना दिया ?

जान कर भी वो मुझे जान ना पाए,
आज तक वो मुझे पहचान ना पाए,
खुद ही करली बेवफ़ाई हमने,
ताकि उन पर कोई इल्ज़ाम ना आए.

मेरी चुप्पी का मतलब बेवफाई न समझो
कभी – कभी मजबूरियाँ भी खामोश कर जाती है …

This Post Has 4 Comments

Leave a Reply

Close Menu